Twitter
Facebook
Vimeo
Pinterest

Fluid Edge Themes

फिरंगी ने उड़ाया पगड़ी का मजाक, गुस्साए सरदार ने खरीद लीं 7 मैचिंग रॉल्स रॉयस

इंग्लैंड के अरबपतियों में शुमार NRI बिजनेसमैन रुबेन सिंह चर्चा में हैं। हाल ही में किसी शख्स ने इनकी पगड़ी को बैंडेज कहते हुए उसका मजाक उड़ाया। इस बात को इन्होंने दिल पर ले लिया और अपनी पगड़ी के कलर से मैच करती हुई 7 रॉल्स रॉयस खरीद डालीं। अपनी नई कारों के साथ फोटो पोस्ट करते हुए उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “मेरी पगड़ी मेरा ताज है, मेरी शान है।”

13 की उम्र से हैं बिजनेसमैन, 4 साल में खड़ा किया था 200 करोड़ का बिजनेस

– रुबेन सिंह एक ब्रिटिश आंत्रेप्रेन्यॉर हैं। वे ऑलडेPA नाम के कॉल सेंटर के मालिक हैं। ये ब्रिटिश पीएम टोनी ब्लेयर की सरकार में एडवाइजरी पैनल के मेंबर रह चुके हैं।
– इनका जन्म दिल्ली बेस्ड बिजनेसमैन सिख फैमिली में हुआ था। 1970 के दशक में इनके पिता सरबजीत दिल्ली से लंदन आए थे। वे इम्पोर्टेड फैशन एक्सेससरीज के होलसेलर थे।
– सरबजीत के सबसे बड़े बेटे रुबेन का जन्म 1976 में हुआ।
– महज 13 साल की उम्र में इनके पिता ने इन्हें फैमिली बिजनेस से जोड़ लिया था।
– साल 1995 में 19 की उम्र में इन्होंने ‘मिस एटीट्यूड’ नाम से लेडीज क्लोथिंग, कॉस्मेटिक्स और फैशन एक्सेसरीज का अपना अलग बिजनेस शुरू किया। महज 4 साल में इनके बिजनेस का टर्नओवर 200 करोड़ तक पहुंच गया था।

1999 में शुरू किया कॉल सेंटर

– रुबेन सिंह ने साल 1999 में मैनचेस्टर में AlldayPA नाम से कॉल सेंटर शुरू किया।
– उन्होंने इस प्रॉजेक्ट में इनीशियल इनवेस्टमेंट 126 करोड़ का किया था।
– साल 2002 में इन्हें एशियन आंत्रेप्रेन्यॉर ऑफ द ईयर अवॉर्ड से नवाजा गया। उसी साल फोर्ब्स मैगजीन ने रुबेन के कॉल सेंटर की नेटवर्थ 808 करोड़ रुपए आंकी थी।

ब्रिटिश बिल गेट्स

साल 2000 में ‘द संडे टाइम्स’ ने रुबेन सिंह को ‘ब्रिटिश बिल गेट्स’ का टाइटल दिया। उस साल इनकी नेटवर्थ 718 करोड़ रुपए से ज्यादा की आंकी गई।

साल 2003 में इन्हें ब्रिटिश क्वीन ने बकिंघम पैलेस पर बुलाकर सम्मानित किया। उसी साल वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने इन्हें ‘ग्लोबल लीडर ऑफ टुमॉरो’ के टाइटल से सम्मानित किया।

Sharing is caring!

Post a comment

shares